News

International Gandhi Peace Prize, 2018

अंतरराष्ट्रीय गांधी शांति पुरस्कार -International Gandhi Peace Award

What is Gandhi Peace Award ?

अंतराष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला वार्षिक पुरस्कार है। यह पुरस्कार राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के नाम पर दिया जाता है। सर्वप्रथम 1995 में ,यह पुरस्कार महात्मा गाँधी जी की 125 वीं जयंती पर भारत सरकार द्वारा आरंभ किया गया था।

  गाँधी शांति पुरस्कार देने का उद्देश्य-

अंतरराष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार उन व्यकितयों या संस्थाओ को प्रदान किये जाते हैं जो अपना योगदान अहिंसा या अन्य गांधीवादी तरीको से सामाजिक ,आर्थिक ,राजनीतिक बदलाव में योगदान देते हैं। इस पुरस्कार को गाँधी जी द्वारा समर्पित आदर्शो को श्रद्धांजलि देने के लिए आरम्भ किया गया था।

  इस पुरस्कार की घोषणा – What is the prize money for Mahatma Gandhi peace prize?

गाँधी शांति पुरस्कार प्राप्तकर्ताओ का फैसला एक ज्यूरी द्वारा किया जाता है, जिसमें प्रधानमंत्री ,लोकसभा में विपक्ष के नेता प्रधान न्यायाधीश और दो अन्य प्रतिष्ठित व्यक्ति शामिल होते  हैं। ज्युरी ऐसे प्रस्तावों पर विचार करती है जो संस्कृति मंत्रालय के कार्यालय द्वारा उस वर्ष के 30 अप्रैल तक प्राप्त किये गए है, जिसके लिए गाँधी शांति पुरस्कार दिया जाना है। इस पुरस्कार में एक करोड़ रुपये (10 million)की धनराशि नकद और एक प्रशस्ति पत्र ,एक बैच और हस्तशिल्प की एक वस्तु दिया जाता है।

  अब तक अंतरराष्ट्रीय गाँधी शांति पुरस्कार के प्राप्तकर्ता-

List of All International Mahatma Gandhi Peace Prize-

  • सर्वप्रथम यह पुरस्कार वर्ष 1995 तंजानिया के प्रथम राष्ट्रपति जूलियस नायरेरे  को अफ्रीकी राष्ट्रवाद और समाजवाद को  बढ़ाने के लिए  दिया गया था।
  •  1996 में यह सम्मान सर्वोदय श्रमदान आंदोलन के संस्थापक अध्यक्ष एआर टी एरियारत्ने  को मिला था।
  • 1997 में यह सम्मान जर्मनी के गेरहार्ड फिशर  को कोढ़ एवं पोलियो पर शोध के लिए मिला था।
  • 1998 में यह पुरस्कार स्वामी विवेकानंद द्वारा स्थापित  रामकृष्ण मिशन  को दुनिया भर में आदर्श आध्यात्मिक आंदोलन  के लिए दिए गया था।
  • 1999 में समाज सेवी  बाबा आम्टे  के नाम से मशहूर मुरीधर देवीदास आम्टेको कुष्ठ रोग से पीड़ित गरीब लोगो के   पुर्नवास और सशक्तिकरण के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • 2000 में यह सम्मान नेल्सन मंडेला  और ग्रामीण बैंक ,बांग्लादेश को सयुंक्त रूप से दिया गया था।
  • 2001 में इस सम्मान के प्राप्तकर्ता उत्तरी आयरिश राजनीतिज्ञ और सोशल डेमोक्रेटिक एंड लेबर पार्टी के  संस्थापक जॉन ह्यूम  थे।
  • 2002 में यह पुरस्कार भारतीय संस्कृति को समर्पित शैक्षिक ट्रस्ट भारतीय विद्या भवन  को दिए गया था।
  • 2003 में यह सम्मान चेकोस्लोवाकिया के अंतिम और चेक गणराज्य के प्रथम राष्ट्रपति वैक्लेव हैवेल  को प्रदान किआ   गया था।
  • 2004 में यह सम्मान मार्टिन लूथर किंग की पत्नी कोरेट्टा स्कॉट किंग  को दिए गया था।
  • 2005 में दक्षिण अफ्रीका के क्लेरिक एवं सक्रिय डेस्मंड टूटू  गाँधी शांति पुरस्कार के विजेता थे।
  • 2009 में यह पुरस्कार The childrens legal centre को दुनिया में बाल मानवाधिकार को बढ़ावा देने क लिए   दिया गया।
  • 2013 में यह सम्मान पर्यावरणवादी और सामाजिक कार्यकर्ता चंडीप्रसाद भट्ट  को प्रदान किआ गया था।
  • 2014 में यह सम्मान भारतीय अंतरिक्ष अनुशंधान संगठन (ISRO) को अंतरिक्ष के क्षेत्र में योगदान के लिए दिया गया था।
  • 2015 के लिए कन्याकुमारी के विवेकानंद केंद्र  को इस पुरस्कार के लिए चयनित किया गया।
  • 2016 के गाँधी शांति पुरस्कार लिए अक्षय पात्र फाउंडेशन को देश भर में बच्चों को मिड डे मील वितरण और सुलभ इंटरनेशनल  को सिर पर मैला ढोने से मुक्ति दिलाने के लिए संयुक्त रूप से दिया गया।
  • 2017 में  एकल अभियान ट्रस्ट  को आदिवासी एवं ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा के प्रसार में योगदान हेतू चुना गया।
  • 2018 में भारत सहित दुनिया भर में  कुष्ठरोग निवारण के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन के दूत योहेई ससाकावा  को इस पुरस्कार से नवाजा गया।

Neelam Mehta

Hey! this is Neelam Mehta writer at TechFdz.com 😊

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button