Covid 19HealthNews

Pan Masala Banned in Jharkhand for 1 year to avoid COVID-19 spread

Pan Masala Banned, Jharkhand gov banned the sale of gutkha pan masala for 1 year

हैलो दोस्तों, जैसा कि आप सभी  Coronavirus के बढ़ते संक्रमण से अवगत हैं। Coronavirus के खतरे को देखते हुए झारखण्ड सरकार हेमंत सोरेन ने भी एक अहम एलान कर दिया है। सरकार के इस फैसले के अनुसार ( Pan Masala Banned ) पान, गुटखा और पान मसाले की बिक्री एक साल के लिए प्रतिबंधित होगा। दरअसल, Coronavirus का संक्रमण लार और थूक से भी हो रहा है। इसी के कारण झारखण्ड सरकार द्वारा ऐसा फैसला लिया गया है। सरकार के इस फैसले को सभी राज्यवासियों द्वारा सराहा गया।

झारखंड सरकार ने पान मसालों के बहुत से ब्रांडों की जांच में मैग्नीशियम कार्बोनेट पाए जाने के बाद राज्य में पान मसालों के 11 ब्रांड के उत्पादन, भंडारण और बिक्री पर 1 साल के लिए प्रतिबंधित किया है। मैग्नीशियम कार्बोनेट से हृदय की बीमारी सहित विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ होती है। पान मसाला के लिए खाद्य सुरक्षा कानून, 2006 में दिए गए मानक के मुताबिक मैग्नीशियम कार्बोनेट मिलाया जाना प्रतिबंधित है। सरकार ने अधिकारियों को इसे सख्ती से लागू करने का निर्देश दिए हैं। और अगर कोई भी इस नियम की अनदेखी करते पाया गया तो उसके खिलाफ सरकार कड़ी करवाई करेगी। सरकार का कहना है कि इस प्रकार के एहतियात से हम हमारा राज्य और देश जल्द इस बीमारी से बाहर आ सकेंगे।

इस Coronavirus के बढ़ते संक्रमण दौरान झारखंड में तम्बाकू नियंत्रण हेतु राज्य सरकार की तकनीकी सहयोग संस्थान सोशियो इकोनॉमिक एंड एजुकेशनल डेवलपमेन्ट सोसाइटी (सीड्स) के कार्यपालक निदेशक दीपक मिश्र ने बताया की पान मसाला पर प्रतिबंध ( Pan Masala Banned ) लगाकर राज्य सरकार ने साहसिक कदम उठाया है। पान मसाला और गुटका तम्बाकू के प्रतिबन्ध से झारखण्ड में Coronavirus के संक्रमण के रोकथाम में मदद मिलेगी, क्योंकि लोग पान मसाला का सेवन करने के बाद इधर- उधर थूकते हैं। सरकार द्वारा यदि पान मसाला के प्रतिबंध को राज्य में सही ढंग से लागू किया जाएगा तो तम्बाकू सेवन करने वाले लोगों की संख्या में कमी आएगी।

सरकार पान मसाला, गुटखा, तम्बाकू या निकोटिन युक्त किसी भी सामग्री के निर्माण, भंडारण, परिवहन, प्रदर्शन, वितरण और बिक्री पर एक साल के अवधि के लिए रोक लगा दी है। झारखण्ड सरकार की यह निर्णय ( Pan Masala Banned ) तत्काल novel Coronavirus  प्रभाव से सार्वजनिक स्वस्थ्य के हित में लिया गया है।

 गुटखा, पान मसाला के सेवन के दुष्प्रभाव-

  • गुटखा और पान मसाला में तम्बाकू उत्पाद होते हैं, जिनमे चूना, निकोटिन और अन्य स्वाद और रसायन शामिल होते हैं। इन जहरीले उत्पादों का सेवन नशे की लत है और विभिन्न कैंसर के रूपों और अस्वाभाविक स्थितियों को उत्पन्न करती है।
  • गुटखा और पान मसाला आपके शरीर के लिए बेहद घातक होता है यह न केवल पेट बल्कि मुँह, दांत और पूरे शरीर के लिए भी यह नुकसान दायक है।
  • बहुत से लोग मुँह के स्वाद या मुँह की दुर्गंध को ठीक करने के लिए पान मसाला का उपयोग करते हैं। लेकिन सर्वे और अनुसंधान के अनुसार सबसे ज्यादा मुँह का केंसर पान मसाला चबाने के कारण होता है।
  • पान मसाला खाने वालो को न केवल मुँह के रोग बल्कि उच्च रक्तचाप, ह्रदय रोग ,अस्थमा आदि की भी शिकायतें होती हैं।
  • पान मसाला और गुटखा खाने वाले लोंगो के मुंह से बहुत ही गंदी बदबू आने लगती है और साथ ही वे पायरिया के शिकार भी जल्दी हो जाते हैं।
  • पान मसाले आदि के सेवन की आदत शरीर को नष्ट करके जीवन को भी बदहाल बना देती है। पान मसाला हर स्थिति में आपके के लिए नुकसानदेह है।
  • इतना ही नहीं, गुटखे में मौजूद कई किस्म के रसायनों से हमारे डीएनए (DNA) को भी नुकसान हो सकता है।
  • इसके अलावा इसके सेवन से सेक्स हार्मोन भी प्रभावित होते है। एक अध्ययन में पाया गया है कि गुटखा खाने का बुरा असर हमारे शरीर के विभिन्न अंगों पर होता है। मानव शरीर के हर अंग में पाए जाने वाले साइप-450 नामक एंजाइम की कार्यक्षमता पर इसका बुरा असर पड़ता है।
  • इसके अलावा गुटखा खाने से शरीर में टॉक्सिन बनने की प्रक्रिया में बाधा पहुंचाता है। जो हार्मोन टॉक्सीन बनाते हैं, यह उनको नुकसान पहुंचाता है।
  • साथ ही यदि गर्भवती महिलाएं लगातार गुटखे का सेवन करती हैं तो इससे उनके आने वाले बच्चे को कई किस्म की समस्याएं हो सकती हैं। गुटखा और पान मसाला मौत का पैगाम लेकर आता है लेकिन हम उसे सुनने में देर कर देते हैं।

यह भी पढ़े- IMMUNITY कैसे strong करें? अपना Immunity कैसे बढ़ाए?

ऐसे पाए गुटखा, पान मसाला की बुरी लत से छुटकारा –

पान मसाले और गुटखा की सेवन के बजाय आप सौंफ और मिश्री या फिर सूखे मेवे भी खा सकते हैं। ये आपके शरीर को नुकसान तो नही पहुंचाएंगे बल्कि फायदा ही करेंगे।जब आपको गुटखा या पान मसाला खाने की इच्छा हो रही हो तो आप अपने घर वालों या दोस्तों से साथ समय बिताए और अपने इच्छा को नियंत्रण में रखें। उस जगह ना जाए जहां गुटखा तम्बाकू मिलती हो और जो दोस्त आपके तम्बाकू गुटखा खाते हो उनके साथ समय ना बिताए या साथ में खाने से मना कर दे। गुटखा और पान मसाला मौत का पैगाम लेकर आता है लेकिन हम उसे सुनने में देर कर देते हैं। अब भी देर न करें आप अभी से सावधान रहे निकोटिन युक्त पदार्थों के सेवन से।

आपका धन्यवाद !!!

Neelam Mehta

Hey! this is Neelam Mehta writer at TechFdz.com 😊

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button