Covid 19News

One Nation One Ration Card scheme क्या है ?

इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड योजना ( One Nation One Ration Card scheme ) के बारे में । और किस तरह  इस योजना  से करोड़ों लोगों को फायदा होने वाला है।

Hiiee, दोस्तों इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं One Nation One Ration Card scheme के बारे में । और किस तरह  इस योजना  से करोड़ों लोगों को फायदा होने वाला है। फ़िलहाल Coronavirus महामारी की वजह से  Lockdown चल रहा है इसलिए कोर्ट ने कहा कि इस दौरान पलायन करने वाले कामगारों और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को सस्ते दाम पर अनाज मिल सके, उनके लिए इस योजना को पूरे देश में लागू किया जाना चाहिए।

उपभोक्ता मंत्री रामविलास पासवान ने सभी राज्यों को योजना में शामिल होने के लिए  1 June 2020 का लक्ष्य दिया है। फ़िलहाल 17 राज्यों में रहने वाले लोग का लाभ उठा सकते हैं।  इन राज्यों में उत्तरप्रदेश, बिहार,पंजाब,हिमाचल प्रदेश, राजस्थान,आँध्रप्रदेश,गोवा, गुजरात,हरियाणा, झारखण्ड, केरल,कर्नाटक, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना, त्रिपुरा और दमन-दिव शामिल हैं।  सभी 17 राज्यों में और केंद्र शासित में 1 May 2020 से अन्तर्राजीय और राष्ट्रीय पोर्टेबिलिटी निर्बाध तरीके से योजना शुरू करने का निर्देश दिया है।

क्या है One Nation One Ration Card scheme ??

One Nation One Ration Card Scheme केंद्र सरकार की योजना है।  जिसे ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना’ का नाम दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत देश में रहने वाले किसी भी नागरिक का एक ही राशन कार्ड होगा तथा साथ ही वो कही भी रह रहा होगा उसे किसी भी राशन दुकान से अनाज  उपलब्ध कराया जायेगा। इस योजना के तहत राशन कार्ड पूरे देश में मान्य हो जायेगा। इसका सबसे बड़ा लाभार्थी वे प्रवासी मजदूर होंगे, जो बेहतर रोजगार के अवसर तलाशने के लिए दूसरे राज्यों में जाते है। इससे वे अपनी खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित कर पाएंगे। इस योजना को लागू करने के लिए सभी सरकारी राशन की दुकानों पर पीओएस (पॉइंट ऑफ़ सेल) मशीनों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। राशन कार्ड को आधार नंबर से जोड़ देने से इस प्रणाली में चोरी और धांधली रोकने में जबर्जस्त सफलता मिली है।

जानिए Ration Card क्या है ??

राशन कार्ड एक Official Document  है जिसे राज्य सरकार  की ओर से जारी किया जाता है। यह कार्डधारक को भोजन या अन्य सामान प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करता है। यह कार्ड भारत में सार्वजनिक वितरण प्रणाली का महत्वपूर्ण हिस्सा है। वर्त्तमान समय में कार्ड धारक खाद्यान्न, चीनी और मिट्टी तेल राशन कार्ड से प्राप्त करते हैं। आर्थिक स्थिति के अनुरूप सरकार अन्य सामग्री भी उपलब्ध कराती है।

 

वर्तमान समय में तीन प्रकार के कार्ड वितरित किये जाते है –

  1. अन्तोदय राशन कार्ड, यह सबसे गरीब लोगो को दिया जाता है।
  2. गरीबी रेखा से नीचे के लिए (BPL) बीपीएल कार्ड दिया जाता है।
  3. गरीबी रेखा से ऊपर के लिए (APL)एपीएल कार्ड दिया जाता है।

इसे भी पढ़े-

(POCSO Act) Know all about बाल यौन शोषण

  • जन वितरण प्रणाली की नई व्यवस्था वन नेशन वन कार्ड योजना में लाभार्थियों का नया कार्ड नहीं बनेगा। देश के किसी भी हिस्से में राशन उन्हें पुराने राशन कार्ड के द्वारा ही मिल जाएगा। केंद्र सरकार ने स्पष्ट किया है कि वन नेशन वन राशन कार्ड योजना लागू होने के बाद भी पुराना राशन कार्ड चलता रहेगा।

सरकार के इस कदम से लाभार्थियों को स्वतंत्रता प्राप्त होगी क्योंकि वे किसी एक राशन की दुकान से बंधे नहीं होंगे। और दुकानों के मालिकों पर अपनी निर्भरता कम करेंगे और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाएंगे। गोदान से अनाजों आपूर्ति करते समय अनाज की गुणवत्ता का जायजा ऑनलाइन लिया जायेगा। राशन दुकानदारों के साथ उपभोक्ताओं को अनाज की आपूर्ति के समय दर्ज़ किया जायेगा।

Thank you for reading…

Neelam Mehta

Hey! this is Neelam Mehta writer at TechFdz.com 😊

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button